• +91-7869134848
  • motherngo2003@gmail.com
  • Reg. No. : - IND/7303/2003

Past Project

संस्था द्वारा सम्पादित किये गए कार्य



मदर आर्गनाईजेशन द्वारा राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं पर स्थानीय भाषा के साथ जन जाग्रति के प्रयास को लेकर नुक्कड़ नाटकों का प्रदर्शन, विडियों शो, बैठकों का आयोजन, टिकाकरण, परिवार नियोजन, किशोर स्वास्थ्य जननी सुरक्षा आदि कार्यक्रमों हेतु स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर ग्रामीण अंचल में जन जाग्रति एवं स्वास्थ्य शिक्षा को बढ़ावा देन के कार्य किये। संस्था द्वारा वसुधा विकास संस्थान के सहयोग से आशा माडयुल 6-7 अंर्तगत प्रशिक्षण कार्य किये जा रहे है जिसमें आशाओ एंव ए.एन.एम को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

संस्था द्वारा धार जिले में स्वयं सेवी संस्था वसुधा एंव समाधान तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सहयोग से राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल गुणवत्ता निगरानी एवं अनुश्रवण कार्यक्रम अंतर्गत जल की गुणवत्ता, जल की जांच, शुद्धीकरण, रख रखाव, पानी का रिचार्जिंग, पेयजल से होने वाले रोग एवं उनके स्थानीय निदान, जल स्त्रोत की साफ सफाई, मासिक रिपोर्टिंग, दस्तावेजीकरण एवं नुक्कड़ नाटकों का प्रदर्शन, विडियो शो, रैली आदि कार्यक्रम लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सहयोग से जिले में संपादित किये गये।

मदर संस्था द्वारा वसुधा विकास संस्थान के सहयोग से धार जिले के ग्रामीण क्षेत्रो मे किशोर स्वास्थ्य जागरूकता हेतु ग्रामीण किशोरी बालिकाओं एवं ग्रामीण महिलाओं के स्वास्थ्य की दृष्टि से मासिक स्त्राव प्रबंधन एवं सेनेटरी नेपकिन निर्माण हेतु प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। उक्त शिविर में व्यक्तिगत स्वच्छता, शारिरिक स्वच्छता, सेनेटरी नेपकिन निर्माण, रख रखाव एवंभस्मीकरण के साथ-साथ विपणन की जानकारी भी महिलाओं एवं किशोरी बालिकाओं को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा एवं एएनएम के साथ संस्था कार्यकर्ताओं द्वारा दी गई।

पोलियों से मुक्ति पाना हमारा संकल्प है। कार्यक्रम के अंतर्गत पल्स पोलियों अभियान की जानकारी और पोलियों की बीमारी को जड़़ से मिटाने के लिये जन्म से पाँच वर्ष तक के सभी बच्चों को प्रतिमाह पोलियों की अतिरिक्त खुराक पिलाने हेतु संस्था द्वारा प्रचार-प्रसार किया गया तथा घर-घर जाकर ग्रामवासियों को इसके बारे में जानकारी दी गई।

कृषि विभाग के सहयोग से संस्था द्वारा ग्रामीण क्षेत्रा में फसल पर लगने वाले किटों से बचाव एवं घरेलु दवाई जिसमें निम का घोल और इल्ली घोल, तंबाकु घोल आदि के फसल पर उपयोग हेतु बड़ावा एवं छिटकाव कि जानकारी के साथ-साथ ग्रामीणों में वर्मी खाद बनाने के तरीके का प्रशिक्षण दिया एवं ग्रामीणों को फलदार वृक्ष बाटे साथ ही निम और तुलसी के पौधे भी वितरित किए गये उक्त कार्यक्रम मंे संस्था के सहयोगी श्री रमेश मेवाड़ा कृषी अधिकारी एवं श्री इंग्ले डिप्टी डायरेक्टर कृषि धार द्वारा ग्रामीणों को जानकारी दी गई।

मदर संस्था द्वारा समाधान समाज सेवा समिति के सहयोग से विकलांग बच्चो हेतु समावेशित शिक्षा कार्यक्रम का क्रियांवयन किया गया। जिसमे विकलांग बच्चो हेतु लगाये गये मुल्यांनकन शिविर में सहयोग किया गया।

संस्था द्वारा धार जिले के उमरबन विकासखण्ड में समाधान संस्था के सहयोग से स्वयं सहायता समुह के प्रशिक्षण कार्यक्रम का क्रियान्वयन किया गया। मुख्य रूप से स्वयं सहायता समुहो के सदस्यो को प्रबंधन व दस्तावेजिकरण का कार्य सिखाया गया। समुहो के 150 सदस्यो को प्रशिक्षीत किया गया।